एक लीटर डीजल में कितना चलती है ट्रेन सच्चाई देखकर हैरान हो जाऐगें आप

हम सभी जानते हैं की रेल गाडी बहुत ही कम पेसो में हमे हमारे मंजिल तक पहुंचा देती हैं और आसानी से सीट भी मिलने की वजह से हम ज्यादतर सफर ट्रैन में ही करते हैं | लेकिन कभी कभी तरीन से जुडी कुछ ऐसी भी बाते हमारे मन में होती हैं जिसका हम समाधान नहीं निकाल पाते हैं ।तो आज हम आप को ट्रैन जुडी कुछ ऐसी बाटे बताएंगे जिसके बाद आप के दिमाग में सारा कन्फयूजन दूर हो जाएगा । काफी समय से हम सभी ट्रैन में सफर कर रहे हैं लेकिन हमे किसी को नहीं मालूम होगा की ट्रैन का एवरेज कितना होता हैं क्यूंकि जब हम अपनी बाइक या कार चलाते हैं तो उस दौरान हमे एवरेज की काफी टेंसन रहा करती हैं और हर वक्त नजरे पेट्रोल के काटे पर ही रहती हैं ।लेकिन क्या आप को मालुम हैं ट्रैन एक किलोमीटर चलने के कितने रुपए लेती हैं ? अगर नहीं मालुम तो टेंसन मत लीजिये आज हम आप के हर उत्तर का जवाब देने ही आये हैं ।

इस उत्तर का जवाब मिलना काफी मुश्किल हैं की ट्रैन एक किलोमीटर में कितना एवरेज पि लेती हैं लेकिन हमे इसका उत्तर मिला कोरा पर | जब हमने यहाँ पर इस बारे में पढ़ा तब राजन प्रधान नाम के एक उजर ने इसके बारे में जवाब देते हुए कहा की रात को मैं औरंगाबाद के स्टेशन पर था और ट्रेन का इंतज़ार कर रहा था। वहां मैनें देखा कि ट्रेन का ड्राइवर ट्रेन स्टेशन पर रोककर इंजन को चालू छोड़ कर चाय-नाश्ता करने चला गया।तब मेरे मन में सवाल आया कि क्या खड़ी ट्रेन में इंजन में डीजल नहीं लगता क्या जो ये लोग बिना इंजन बंद किए चले जाते हैं और इंजन कितना एवरेज देता है। मैं जिस नाश्ते के स्टॉल पर खड़ा था लोको पायलट भी उसी स्टॉल पर नाश्ता करने आया और फिर मैने उससे पूछा कि आप इंजन को चालू ही छोड़कर क्यों आ गए, क्या उसमें डीजल नहीं लगता।लोको पायलट का नाम पवन कुमार था और वो ग्वालियर से था।.

 

पवन ने बताया की इंजन को बंद कारन तो बहुत आसान हैं लेकिन इसी वापस स्टार्ट करने में कम से कम 25 लीटर डीजल इस्तमाल हो जाता हैं ।इसके अलावा दूसरी तरफ वाले इंजन को चालु करने में करीब 15 लीटर डीजल इस्तमाल हो जाता हैं इस वजह से बेहतर ये ही होता हैं की इंजन को चालु ही रखा जाए । आज हम आप को बताएंगे की भारतीय रेलगाड़ी का इंजन कितना एवरेज देता हैं । हम अक्सर अपनी गाड़ियों को लेकर एक ही बात सोचते हैं की कुछ तो ऐसी तरकीब होगी जिस से ये जायदा एवरेज देने लग जाए पर गाडी की जो शमता होती हैं वो उतना ही एवरेज देगी ।भारतीय रेल के डीजल इंजन कितना एवरेज देते हैं भारतीय रेलवे ने अब धीरे धीरे डीजल इंजनो को हटाकर उनकी जगह बिजली से चलने वाले इंजन बढ़ाने की कोशिश में लगा हुआ है. अगर भारतीय रेलवे के इंजन पूरी तरह से बिजली से चलने वाले बन गए तो इससे डीजल की खपत से हो रहे नुकसान से बचा जा सकता है. जिस तरह से भारत में तरक्की हो रही हैं भविष्य में भारतीय रेल के सभी इंजन बिजली से चलने वाले होने की संभावना भी है.इसके अलावा अगर 12 डिब्बों की पैसेंजर गाड़ी है तो तो उसमें भी 1 किलोमीटर का एवरेज 6 लीटर डीजल में ही आयेगा क्योंकि पैसेंजर गाड़ी हर स्टेशन पर रूकती जाती है इस बजह से इसके ब्रेक लगने और स्पीड बढ़ाने में ज्यादा डीजल खर्च होता हैं. वहीं एक्सप्रेस गाड़ियों की बात करे तो उनमें भी लगभग 4.50 लीटर में 1 किलोमीटर का एवरेज आयेगा क्योंकि एक्सप्रेस ट्रेन, पैसेंजर ट्रेन की तुलना में बहुत कम जगह रुकती है.

We are eager to hear your EXPERT opinion

Close
error: Content is protected !!